Join Adsterra Banner By Dibhu

बूढ़ सुग्गा राम राम न करला हिन्दी अर्थ

‘बूढ़ सुग्गा राम राम न करला’ यह काफी सरल कहावत है जिसका अंग्रेजी में समानांतर है ‘Old dog cannot learn new tricks’ बूढ़ सुग्गा राम राम न करला का हिन्दी अर्थ बूढ़े तोते को बोलना नहीं …

बूढ़ सुग्गा राम राम न करला हिन्दी अर्थ Read More

बूढ़ सुग्गा पोस न मानेला-भोजपुरी कहावत

‘बूढ़ सुग्गा पोस न मानेला’ यह भोजपुरी कहावत काफी पुरानी है। आइए सबसे पहले कठिन शब्दों का अर्थ जानते हैं कठिन शब्दार्थ बूढ़ – बूढ़ासुग्गा – तोता (मराठी में पोपट)पोस – पोषण, उपकार बूढ़ सुग्गा पोस …

बूढ़ सुग्गा पोस न मानेला-भोजपुरी कहावत Read More

होत न आज्ञा बिनु पैसारे|Hot Na Agya Binu Paisare Meaning

श्री हनुमान चालीसा में २१ वां दोहा है ‘राम दुआरे तुम रखवारे होत न आज्ञा बिनु पैसारे’ इसमें आज्ञा बिनु पैसारे का अर्थ समझते हैं शब्दार्थ पैसारे शब्द प्रवेश शब्द का अपभ्रंश है। अवध के गावों …

होत न आज्ञा बिनु पैसारे|Hot Na Agya Binu Paisare Meaning Read More

जासु नाम भव भेषज-अर्थ, व्याख्या व प्रयोग

जासु नाम भव भेषज हरण घोर त्रय शूल दोहे का अर्थ जासु नाम भव भेषज हरण घोर त्रय शूलसो कृपाल मोहिं तो पर सदा रहउँ अनुकूल ॥124 क॥ अर्थ: जिनका नाम ( राम ) ही जन्म …

जासु नाम भव भेषज-अर्थ, व्याख्या व प्रयोग Read More

आगे नाथ न पीछे पगहा : Aage Nath Na Piche Pagha Ka Arth

उत्तर प्रदेश और बिहार में यह कहावत ‘आगे नाथ न पीछे पगहा‘ (Aage Nath Na Piche Pagha) अभी भी गावों में प्रयोग की जाती है। खासकर उन नौजवान बेफिक्रे युवाओं के लिए जो बिल्कुल स्वच्छंद हैं …

आगे नाथ न पीछे पगहा : Aage Nath Na Piche Pagha Ka Arth Read More